Tue. Jul 16th, 2024

Rahul Gandhi ने मणिपुर से मुंबई तक चल रही “भारत जोड़ो न्याय यात्रा” का आयोजन किया है। इस यात्रा के आठवें दिन, राहुल असम के सोनितपुर इलाके में पहुंचे। एक स्थान पर लोगों से मिलने के दौरान, Rahul Gandhi को अफरा-तफरी भरे माहौल में देखा गया। वह बस से उतरते ही वापस बस में चढ़ा दिए गए, कुछ सेकेंड्स के भीतर ही।

घटना के पीछे क्या थी वजह

इस घटना के पीछे यह कारण था कि राहुल गांधी के चरणों के आस-पास भाजपा के झंडे लेकर पहुंचे कुछ लोगों ने एक अजीब-सा माहौल बना दिया था। इससे पहले, पार्टी महासचिव जयराम रमेश की कार को निशाना बनाने की खबरें भी सामने आई थीं।

rahul gandhi nya yatra

Rahul Gandhi हथियारबंद सुरक्षाकर्मी राहुल को कुछ ही सेकेंडों के लिए बस से बाहर निकालने का प्रयास करते हुए, माहौल की संवेदनशीलता को देखते हुए कांग्रेस नेताओं के साथ। एएनआई की वीडियो रिपोर्ट में दिखाया गया है कि राहुल बस से नीचे उतरते हैं, हाथ में हथियार लिए हुए सुरक्षाकर्मी उनके साथ हैं। मौके पर मौजूद लोगों ने भी उन्हें बुरी नजरों से देखा है। इसके बाद, कुछ सेकेंडों के भीतर ही राहुल को बस में वापस भेज दिया गया है। राहुल गांधी के आसपास मौजूद लोगों की सुरक्षा में चूक होने की तरह भी इस मामले को देखा जा रहा है।

कांग्रेस प्रमुख मल्लिकार्जुन खरगे ने बयान

Asam के नौगांव में भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान, कांग्रेस प्रमुख मल्लिकार्जुन खरगे ने बयान दिया कि वे और उनका पार्टी डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की यात्रा बहुत अच्छी चल रही है और इससे बीजेपी के लोग घबराए हुए हैं। उन्होंने बीजेपी के पीसीसी अध्यक्ष पर किए गए हमले को लेकर कहा कि वे डरने वाले नहीं हैं और कांग्रेस के सच्चे सिपाही हैं। खरगे ने कहा, “कांग्रेस किसी से डरने वाली नहीं है। हम डरेंगे नहीं, यह कांग्रेस का वादा है।” हिमंत बिस्वा सरमा, जो पहले कांग्रेस के बड़े नेता थे, अब भाजपा नेता और प्रदेश के मुखिया के रूप में कांग्रेस को आड़े हाथों लिया हैं।

Rahul Gandhi असम के कांग्रेस अध्यक्ष भूपेन बोरा पर हुए हमले के बाद, असम कांग्रेस इकाई ने दावा किया है कि भाजपा समर्थकों का एक समूह ने उन पर हमला किया। घटना रविवार को असम के सोनितपुर जिले के जमुगुरीहाट इलाके में हुई थी। इस हमले में भूपेन बोरा की नाक पर चोट आई है और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कर लिया गया है। यह घटना राजनीतिक दलों के बीच तनाव को और भी बढ़ा सकती है।

इसके परे, असम विधानसभा के उपाध्यक्ष और बीजेपी विधायक डॉ नुमल मोमिन ने मल्लिकार्जुन खरगे और असम के मुख्यमंत्री पर लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस घबरा गई है और वह नाकामी से दुखी है। डॉ नुमल ने बीजेपी के बयानों का समर्थन करते हुए कहा कि लोगों ने “भारत जोड़ो न्याय यात्रा” को खारिज कर दिया है और उन्होंने आरोप लगाए कि कांग्रेस नापाक साजिश रच रही है ताकि वह बीजेपी, सरकार और मुख्यमंत्री को बदनाम कर सके। वह भी यकीन दिलाते हैं कि असम पुलिस और प्रशासन इस मामले में सक्रिय हैं और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Rahul Gandhi : IT सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने किया बड़ा दावा

आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने दावा किया है कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान उनकी पार्टी के समर्थकों के साथ झड़प में आपा खो दिया। मालवीय और भाजपा ने कहा है कि राहुल गांधी ने सोनितपुर से गुजरते हुए ‘जय श्री राम’ और ‘मोदी-मोदी’ के नारे सुनकर भड़ककर बस से उतर गए और भीड़ में घुसे।

मालवीय ने आगे कहा कि अगर राहुल गांधी इतने ही परेशान हो रहे हैं तो आने वाले दिनों में उनका सामना देशवासियों से कैसे होगा। उन्होंने कांग्रेस को ‘हिंदू विरोधी’ बताते हुए अयोध्या के राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह का हिस्सा नहीं बनने का फैसला लेने पर भी विरोध जताया।

उनके मुताबिक, जनता कांग्रेस को इस घटना के बाद खारिज कर देगी और देशभर में इसका प्रभाव महसूस होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *